Hardware क्या है ? What is hardware in hindi ? पूरी जानकारी

हेल्लो दोस्तों , क्या आप जानते है कि कंप्यूटर Hardware क्या है ? ये सवाल आपके मन में जरुर आता होगा ! अगर आप इन्ही सवालों के जवाब जानना चाहते है तो आज हम हार्डवेयर और सोफ्टवेयर के बारे में पूरी जानकारी देंगे ! ये बात सभी को पता है कि कंप्यूटर में मुख्य रूप से दो Part होते है एक होता है हार्डवेयर और दूसरा होता है सॉफ्टवेर ! Software को computer program भी कहा जाता है ! software जिन्हें हम अपने मोबाइल और कंप्यूटर में रोज Use करते है ! जैसे – Internet Explorer, Ms-word, excel, paint, Photoshop, और Operating system (Windows, Mac, Android, Linux)

लेकिन दोस्तों ये सभी software बिना hardware के किसी काम के नहीं है ! इन्हें चलाने के लिए आपको हार्डवेयर की आवश्यकता होगी ! अगर आपको ms word पर टाइपिंग करना है तो आपको keyboard की जरुरत पड़ेगी ! अगर आपको Photoshop पर फोटो Edit करनी है तो आपको mouse की जरुरत होगी !  इसी तरह computer में बहुत सारे hardware होते है जिनकी मदद से software को चलाया जाता है मैंने कुछ हार्डवेयर के उदाहरण बताये है जिनके बारे में हम आगे विस्तार से जानगे ! हार्डवेयर के उदाहरणKeyboard, Mouse, hard disk, Monitor, Motherboard, CPU, UPS, Speaker ये सभी एक एक Hardware हैं  !

what is hardware ?

Hardware क्या है ? – What is Hardware in Hindi

Hardware कंप्यूटर का वो हिस्सा है जिसे हम देख सकते है और छू सकते है ! आसान शब्दों में कह सकते है कि Computer का Physical Component जिन्हें मिलाकर कंप्यूटर का निर्माण होता है उन्हें hardware कहते है ! जैसे – Hard disk , Mother board, Ram , CPU, SMPS इत्यादि !

किसी भी कंप्यूटर को ऑपरेट करने के लिए हमे software और hardware दोनों की ही जरुरत होती है ! अगर आपके पास सिर्फ hardware है और software नहीं है तो आप कंप्यूटर को ऑपरेट नहीं कर सकते है सिर्फ उसे देख और छु सकते है उसी तरह अगर आपके पास software है परन्तु हार्डवेयर नहीं है तो आप software का इस्तेमाल नहीं कर सकते है ! इसका एक उदाहरण आप खुद भी जैसे कि आपका शरीर एक hardware है तो आपकी आत्मा software का काम करती है ! अगर दोनों को अलग कर दिया जाये तो दोनों ही कम नहीं करेंगे !

कंप्यूटर हार्डवेयर को दो मुख्य भागो में विभाजित किया जाता है: Internal और External.

Internal Hardware

Internal Hardware आमतौर पर हमें दिखाई नही देते है, क्योंकि यह Computer Case के अंदर लगे होते है, इन्हें देखने के लिए हमे कंप्यूटर को खोलना होगा। internal hardware के कुछ नाम आपको बताना चाहूँगा जो कंप्यूटर के अंदर लगे होते है !

  • Central Processing Unit (CPU)
  • Motherboard
  • RAM (Random Access Memory)
  • ROM (Read Only Memory)
  • Hard Drive
  • PSU (Power Supply Unit)
  • NIC (Network Card)
  • Heat Sink (Fan)
  • Graphics Card

External Hardware

External hardware जिन्हें Peripheral Components भी कहा जाता है, यह बाहर से कंप्यूटर के साथ जुड़े होते है। इनमे Input और Output Devices शामिल है।

  • Monitor
  • Mouse
  • Keyboard
  • Printer
  • Speaker
  • UPS (Uninterruptible Power Supply)

External Hardware के प्रकार – Types of Hardware in Hindi

आप सभी जानते है कि computer में दो प्रकार होते है एक होता है Laptop और दूसरा Desktop ! लैपटॉप में सभी hardware एक साथ जुड़े होते है परन्तु desktop में सभी हार्डवेयर अलग अलग होते है ! परन्तु सभी हार्डवेयर का काम एक जैसा ही होता है ! चलिए इन Hardware के प्रकार और Examples के बारे में जानते हैं !

Keyboard 

दोस्तों यह एक Input Device है इस Device की मदद से हम कंप्यूटर के अंदर जितने भी लिखने वाले कार्य होते उनके लिए keyboard का उपयोग किया जाता है अभी आप इस ब्लॉग को पढ़ रहे है यह भी इसी keyboard की मदद से लिखा गया है ! इस device को desktop में usb port की मदद से connect किया जाता है ! मगर लैपटॉप में यह आपको लैपटॉप के साथ inbuilt मिलता है ! इस HW को हम देख भी सकते है और छु भी सकते है ! इस device को बनाने में और भी और भी hardware component का इस्तेमाल किया जाता है जो इसके अंदर लगे होते है ! एक keyboard में 100 से ज्यादा button होती है

Mouse

वैसे तो mouse का मतलब चूहा होता है इस device को mouse इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह देखने में चूहे की तरह ही दिखाई देता है ! इसे pointing device और Cursor Moving Device के नाम से भी जाना जाता है ! यह भी एक इनपुट device है और इसे भी USB port की मदद से कनेक्ट किया जाता है ! एक normal mouse में 3 बटन होती है Left key, Right key, Middle key Roller ! लेकिन अगर आप एक gaming mouse का इस्तेमाल करते है तो उसमे 6 या 7 बटन भी हो सकती है ! Mouse को Flat Surface या Mouse Pad पर रख कर चलाया जाता है ! इसका इस्तेमाल पॉइंटर या cursor को control करने के लिए किया जाता है !

Monitor

यह एक electronic device जो कंप्यूटर के Output को दिखाने के लिए उपयोग किया जाता है ! यह देखने में T.V. की तरह दिखाई देता है ! desktop में यह Hardware  आकर में बड़ा होता है परन्तु लैपटॉप में इसका आकर छोटा होता है ! यह monitor दो प्रकार के होते है !

CRT Monitor –  यह  monitor देखने में टीवी की तरह ही होते है ! यह आकर में बड़े होते है और ज्यादा जगह को घेरते है ! और इनमे electricity भी ज्यादा उपयोग होती है ! यह सबसे पुरानी इस्तेमाल किये जाने वाली technology है, आज कल इस technology का इस्तेमाल न के बराबर ही किया जाता है !

LCD Monitor – LCD का full form Liquid Crystal Display होता है ! यह monitor एक तरह का flat panel display है ! CRT monitor के मुकाबले यह तकनीक बहुत ही नयी है ! यह monitor कम जगह घेरते है और इनका वजन भी कम होता है , LCD display में electricity भी बहुत ही कम लगती है ! यह display आज के समय में आपको सभी जगह उपयोग में दिखाई देंगे ! मोबाइल फ़ोन, Tablet, और कंप्यूटर में LCD display का उपयोग किया जाता है !

 Scanner

यह एक कंप्यूटर का बहारी Hardware है इसका उपयोग hard copy यानि किसी कागज पर जो भी लिखित है या फोटो के रूप में है उसे इस hardware की मदद से scan करके soft copy में hard drive में स्टोर करके रख सकते है !  इसे External device भी कहते हैं ! इस soft copy को इन्टरनेट की मदद से बड़ी आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेज सकते है !

Speaker

यह भी External Hardware हैं, इसके इस्तेमाल से हम sound सुन सकते हैं यह sound के रूप मे output देता है आज कल ये system में inbuilt रहता है !

Printer

Printer एक output device है ! यह hardware scanner के विपरीत काम करता है यह soft copy  को hard copy में प्रिंट करके निकालने के लिए उपयोग में किया जाता है ! लेकिन अब स्कैनर का इस्तेमाल कम हो गया है क्योंकि प्रिंटर के साथ ही स्कैनर को भी जोड़ दिया गया है अब प्रिंटर की मदद से दोनों काम किये जा सकते है !

Internal Hardware के प्रकार

RAM

RAM का Full-form होता है Random-access memory. जैसा कि इसके नाम से ही पता चल रहा है, कि यह एक प्रकार की मेमोरी है ! यह आपके computer या mobile में मेमोरी का काम करता है ! एक प्रकार से primary memory होती है ! इसे और भी कई नामो से जाना जाता है. जैसे – Main memory, Physical memory,Volatile memory. यह computer या mobile में किये गए काम को temporary स्टोर करके रखता है. जब तक आप उन फाइल को हार्डडिस्क या pen drive में सेव नहीं कर देते है |

CPU (Central Processing Unit)

CPU कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है ! सीपीयू को कंप्यूटर का दिमाग कहते हैं ! CPU का फुल फॉर्म central processing unit होता है, सीपीयू में कंप्यूटर के सारे सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल किया जाता है ! जिससे CPU कंप्यूटर के सारे कार्यों को कंट्रोल करता है । Computer पर होने वाले कार्यो को CPU Process करता है. कंप्यूटर का सारा डाटा CPU में स्टोर होता है । CPU के अन्दर एक चिप लगी होती है, इसे Processor कहते है! Processor Computer के सभी Components को Control करता है, Processor एक Electronic Device होती है ! जो Computer के मदरबोर्ड में लगी होती है, Computer की सारी Programming का काम Processor करता है।

Motherboard

अह hardware कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है यह एक प्रकार का board होता है  जिसको PCB (Printed Circuit Board) कहते हैं ! यह motherboard कंप्यूटर के सभी पार्ट तक करंट पहुचने का काम करता है ! इस motherboard में कंप्यूटर के component को लगाया जाता है ! जैसे RAM,CPU, Hard drive, graphic card, smps port.

Graphics Cards

GPU का full form है “Graphics Processing Unit”.कंप्यूटर द्वारा बनाई गई पिक्चर और मूवी को graphic कहा जाता है ! जो काम पहले CPU करता था वह काम अब GPU भी करता है । GPU एक co-processor है, जो graphical calculation करता है ! आज के समय में एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर और गेम इतने हाई graphic में आते हैं ! कि प्रोसेसर अकेले उन सभी को नहीं चला पाता है जिसके कारण कंप्यूटर धीरे काम करने लगता है ! लेकिन अगर आपके कंप्यूटर में graphic card लगा है ! तो वह सारे कार्य graphic card करना शुरू कर देता है ! graphic card लगाने से सीपीयू के कार्य बट जाते हैं ! graphic कार्ड visual वाले कार्य करना शुरू कर देता है और बाकी कार्य CPU करता है ! जिससे आपका कंप्यूटर या मोबाइल अच्छी तरह कार्य करता है !

Sound card – इसका दूसरा नाम है audio output device, sound board, or audio card, Sound card  है. यह sound निकालने में मदद करता है! जिसको हम speakers और headphones के द्वारा सुन सकते हैं !

Hard Disk Drive 

HDD का full form Hard disk Drive होता है ! HDD यह एक Data Storage Hardware Device है यह एक प्रकार की मेमोरी है | इसे नॉन वोलेटाइल मेमोरी कहा जाता है ! हार्ड डिस्क का उपयोग फाइल या data को स्टोर करने के लिये किया जाता है यह कंप्यूटर का एक महत्वपर्ण भाग है ! हार्डडिस्क के अंदर आप data को permanently store करके रख सकते है !

DVD DRIVE

DVD Drive हर Desktop और Laptop में INSTALL किया जाता है, जिनको Optical Drive भी कहते हैं ! और  dvd drive को दूसरे नामो से भी जाना जाता है,  Disc drive, Odd, CD Drive, DVD Drive. इनका इस्तेमाल  digital data को Store करने के लिए किया जाता है !  और dvd , cd में जो डाटा स्टोर है उसे कंप्यूटर में देखने या स्टोर करने के लिए उपयोग किया जाता है !

SMPS

SMPS hardware का full form है Switch Mode Power Supply. यह कंप्यूटर का मुख्य part है जो कंप्यूटर में लगे सभी अलग -अलग components को power supply देने का काम करता है ! यह देखने में square shape में होता है ! इसमें बहुत सारे वायर होते है जिन्हें हम कंप्यूटर के सभी components में लगाते है ! जैसे motherboard, DVD Writer, HDD, Fan, आदि !

ROM

ROM एक non volatile Memory होती है ! इसका मतलब की यह एक ऐसी memory device या storage medium होती है जो की information को permanently store करती है ! ROM का Full Form होता है “Read Only Memory” यह hardware motherboard के अंदर ही लगा होता है जिसमे BIOS program इनस्टॉल होते है !

Heat Sink fan

यह hardware motherboard से कनेक्ट होता है heat sink fan को CPU (Processor ) के ऊपर लगाया जाता है ताकि यह hardware प्रोसेसर को ठंडा रख सके !

NIC (Network Card)

नेटवर्क इंटरफेस कार्ड (NIC) एक hardware component है, जिसके बिना कंप्यूटर को नेटवर्क या internet के साथ नहीं जोड़ा जा सकता है! NIC को Ethernet card, network adapter, LAN adapter या broadband card के रूप में भी जाना जाता है यह नेटवर्क कार्ड आपके कंप्यूटर को Ethernet cable का उपयोग करके internet से कनेक्ट करने की अनुमति देता है! वह cable एक router या modem से जुड़ा होता है जो आपके कंप्यूटर को broadband से कनेक्ट करती है ! लगभग सभी नए कंप्यूटरों में नेटवर्क इंटरफ़ेस कार्ड होता है, जो सीधे तौर पर motherboard से जुड़ा रहता है.

Hardware और Software के बीच अंतर

  • Computer में hardware एक ऐसी वस्तु है जिसे हम देख भी सकते और छू भी सकते है ! परन्तु software को हम देख तो सकते है परन्तु छू नहीं सकते !
  • Software और hardware दोनों एक दूसरे पर निर्भर है ! hardware के बगेर SW काम नहीं करेगा और software के बगेर HW काम नहीं करेगा !
  • हार्डवेयर का उद्देश्य मशीन स्तर के कार्य को करना है जबकि सॉफ्टवेयर हार्डवेयर को निर्देश देता है।
  • सॉफ्टवेयर को विभिन्न श्रेणियों जैसे सिस्टम, एप्लिकेशन और प्रोग्रामिंग के तहत वर्गीकृत किया जाता है। जबकि, हार्डवेयर निम्न प्रकार के होते हैं – इनपुट, आउटपुट, प्रोसेसिंग और स्टोरेज डिवाइस। इन उपकरणों के किसी भी भाग को हार्डवेयर भी कहा जाता है।
  • CPU, UPS, KEYBOARD, MOUSE , MONITOR, SPEAKER आदि हार्डवेयर हैं, जो आमतौर पर कंप्यूटर से जुड़े होते हैं। इसके विपरीत, WINDOWS , LINUX, MICROSOFT, PHOTOSHOP, WINDOWS MEDIA PLAYER आदि सॉफ्टवेयर्स के उदाहरण हैं।
  • Hardware को एक ही बार खरीद ने की आवश्यकता है, जबकि Software को बनाने में और maintenance करने में काफी खर्चा आता है !

People also ask 

हार्डवेयर का मतलब क्या होता है?

Hardware के कितने पार्ट होते हैं?

हार्डवेयर का दूसरा नाम क्या है?

Hardware और Software के बीच अंतर ?

हार्डवेयर को कितने भागों में बांटा जाता है?

तो दोस्तों इसका मतलब यह हुआ की न तो software अकेला काम कर सकता है और न ही hardware ! ये दोनों ही एक दूसरे पर निर्भर है ! तो मेरे ख्याल से आपको इस ब्लॉग को पढने के बाद Hardware क्या है  ? ( What is Hardware ? ) इसके विषय में पूरी जानकारी मिल गई होगी ! हमारी यही कोशिश है की आपको सही और पूरी जानकारी मिल सके ! यह ब्लॉग आपको कैसा लगा अपने सुझाब हमे जरुर बताये ! इसे अपने दोस्तों को भी share जरुर करे ताकि उन्हें भी hardware के बारे में जानकारी मिल सके ! अगर अभी भी आपको कुछ सवाल  है तो comment करके पूछ सकते है ! मै आपकी हेल्प जरुर करुगा ! धन्यवाद 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *